एईआरबी का लक्ष्य यह सुनिश्चित करना है कि भारत में आयनीकारक विकिरण तथा नाभिकीय ऊर्जा के कारण लोगों के स्वास्थ्य एवं पर्यावरण को किसी भी प्रकार का अवांछित जोखिम न हो ।

ई-लोरा (विकिरण अनुप्रयोगों के ई-लाइसेंसिंग)
मैं एक आवेदक हूँ

What you should know if you are an Applicant seeking Consents from AERB.

मैं रेडियोलाजिकल चिकित्‍सा व्‍यवसायिक हूँ
मैं एक मरीज हूँ
मैं एक आदाता / उत्पादक हूँ
मैं एक रेडियोग्राफर हूँ
संरक्षा से संबंधित किसी भी चिंताजनक बात की रिपोर्ट करें
आपातकालीन स्थिति में क्या करें
सार्वजनिक क्षेत्र में नाभिकीय अथवा विकिरणीय आपातकालीन घटना के लिए संपर्क करें
संरक्षा अनुसंधान कार्यक्रम

नवीनतम समाचार

23 जनवरी 2017

एईआरबी ने भोपाल, इंदौर और उज्जैन में गैर-अनुपालन के कारण कुछ चिकित्सीय नैदानिक ​​एक्स-रे सुविधाएं बंद कर दी हैं।

23 नवंबर 2016
नवीनतम प्रेस विज्ञप्ति : प्लाज्मा अनुसंधान केंद्र, गाँधीनगर में 23-25 नवंबर 2016 की अवधि में 33वाँ पऊवि संरक्षा एवं व्यावसायिक स्वास्थ्य पेशेवर सम्मेलन
09 अक्टूबर 2016
नवीनतम प्रेस विज्ञप्ति : दिनांक 9 अक्टूबर 2016 को इंदिरा गाँधी कार्गो टर्मिनल, नई दिल्ली में रेडियोसक्रिय कनसाइनमैण्ट से किसी भी प्रकार का लीकेज न होना ।
23 सितंबर 2016
नासिक, महाराष्ट्र के कुछ चिकित्सा नैदानिक एक्स-रे फेसेलिटियों द्वारा नियमों का अनुपालन न करने के कारण पऊनिप ने उनका प्रचालन बंद करवाया

विजिटर काउण्ट: 342660

Last updated date:

Color switch

 

अक्सर देखे गए

कार्यालय का पता

परमाणु ऊर्जा नियामक परिषद, नियामक भवन अणुशक्तिनगर,, मुंबई 400094, भारत,

कार्य का समय
9:15 से 17:45 – सोमवार से शुक्रवार

वर्ष 2017 के सार्वजनिक अवकाशों की सूची